Ads

कम्प्यूटर का परिचय | कंप्यूटर कितने प्राकर के होते है | कम्प्यूटर का आविष्कार | what are the types of computers

*कंप्यूटर का परिचय (Introduction to Computers)*


⏺️परिचय (Introduction)➡️  कंप्यूटर का आविष्कार चाल्ज बेबेज ने किया था | कंप्यूटर एक मशीन (machine) है जिसका उपयोग हमारे जीवन के लगभग सभी क्षेत्रों में किया जा रहा है। वेब प्रौद्योगिकी (Web technology), इंटरनेट (Internet) और मोबाइल (Mobile) फोन के विकास ने ज्ञान के नए आयाम स्थापित किये है और एक नयी
विचार प्रक्रिया को जीवन दिया है। कंप्यूटर पर सतत
अनुसंधान (regular research) एवं विकास
(development) की गति को देखते हुए यह कह
सकते हैं कि यह हमें जीवन में नए नए अनुभवों (new
experiences) से अवगत करवाता रहेगा।
पर्सनल कंप्यूटर (Personal Computer) गणना
(calculation), डिजाइन (Design) और प्रकाशन
प्रयोजनों (publishing purposes) के लिए छात्रों,
इंजीनियरों, रचनात्मक लेखकों द्वारा इस्तेमाल किया
जाता है। कंप्यूटर ने सीखने की प्रक्रिया को भी बेहतर
(enhance) किया है। विद्यार्थी कक्षा (class) में ही
नहीं बल्कि जब वह यात्रा कर रहा हो, या PC (पर्सनल
कंप्यूटर) के साथ घर पर बैठ कर भी अपनी पढाई कर
सकता है। इंटरनेट प्रौद्योगिकी (Internet
Technology ) से हर व्यक्ति को सभी जानकारी प्राप्त
होना संभव हुआ है। लोग अब पूछताछ (enquiries),
बैंकिंग, खरीददारी (shopping) और कई अन्य कार्यों  के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर रहे हैं। वर्तमान में हम सूचना सुपर हाइवे (information superhighway) के एक युग से गुजर रहे हैं जहां सभी प्रकार की जानकारी
सिर्फ कंप्यूटर के एक बटन पर क्लिक करके उपलब्ध की जा सकती है।


⏺️कंप्यूटरों का वर्गीकरण (C o m p u ter
Classification)
➡️कंप्यूटर अपनी डेटा प्रसंस्करण क्षमता (data processing capabilities)
आधार पर वर्गीकृत (Classified) किया जा सकता है। कम्प्यूटर उनके उद्देश्य, डेटा को संभालने की क्षमता (data handling, functionality), कार्यक्षमता, आकार (size), भंडारण क्षमता (storage capacity) और प्रदर्शन (performance) के आधार पर वर्गीकृत किए गए हैं।
Tomnutere)


⏺️आकार, भंडारण क्षमता और प्रदर्शन के आधार पर वर्गीकरण (Classification based on Size, Storage
Capacity and Performance)➡️

➡️कंप्यूटर (Computer ) एक बड़े कमरे के आकार तक बड़ा और एक लैपटॉप (laptop) के रूप में छोटा हो सकता है या मोबाइल (mobile) में माईक्रो नियंत्रक (micro controller) और एम्बेडेड सिस्टम (embedded system) तक के आकार के हो सकते हैं। कम्प्यूटर्स के चार प्रकार हैं : सुपर कंप्यूटर, मैनफ्रेम कंप्यूटर, मिनी कंप्यूटर और माइक्रो कंप्यूटर



1.⏺️ सुपर कंप्यूटर (Super Computer)
यह कंप्यूटर (super computer) डेटा के भण्डारण क्षमता (Storage Capacity), प्रदर्शन (performance) और डेटा प्रोसेसिंग (Processing) के
मामले में सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर्स होते हैं। सुपर कंप्यूटर बहुत ही खास कंप्यूटर्स होते हैं जो कि बड़ी खोज (research) और वैज्ञानिक उपयोग
(scientific purpose) के लिय इस्तेमाल किए जाते हैं, जैसे कि नासा (NASA) द्वारा अंतरिक्ष यान को लॉन्च करने (launching space shuttles),
उन्हें नियंत्रित (control) करने तथा अंतरिक्ष में खोज करने के लिए सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन कंप्यूटर्स को कार्य करने के लिए बहुत
ज्यादा जगह की जरुरत पड़ती है और ये अत्यधिक महंगें भी होते हैं। पहला सुपर-कंप्यूटर (Super Computer) 1964 में बनाया गया था, जिसका नाम
CDC6600था।



⏺️सुपर कंप्यूटर के उपयोग (Applications of Super Computers): मौसम की भविष्यवाणी (Weather forecasting): इन कंप्यूटरों का उपयोग मौसम का अनुमान लगाने और भविष्यवाणी करने, बरसात तथा
तूफान की तीव्रता का अध्ययन करने के लिए किया जाता है।

⏺️भूकंप की जानकारी लेना (Earthquake studies) : सुपर कंप्यूटरों का उपयोग भकंप घटना की खोज के लिए भी किया जाता है। इनका उपयोग प्राकृतिक गैस, पेट्रोलियम और कोयला जैसे संसाधनों की खोज करने के लिए भी किया जाता है।

⏺️संचार (Communication): ये कंप्यूटर्स विभिन्र उपकरणोंevicesशीनों (machines) और व्यक्तियों के बीच संचार व्यवस्था को बढ़ाने (enhancing the communication) में बहुत सहायक सिद्ध होते हैं।


⏺️इन कंप्यूटर्स के और भी बहुत सारे उपयोग हैं जैसे कि हथियारों के परीक्षण (weapon simulation) और नाभिकीय हथियारो (nuclear weapons)
प्रभाव को जानने में। कुछ प्रसिद्ध सुपर कंप्यूटर्स है:

IBM's Sequoia 371
Fujitsu's K Computer 317
PARAMSuper computer भारत में


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ