Ads

हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर(Hardware & Software)


⏺️सॉफ्टवेयर (Software)➡️हम कंप्यूटर की मदद से विभिन्न प्रकार के कार्यों को संपन्न कर सकते है। असल में सभी प्रक्रियाएँ (processes) सॉफ्टवेयर की मदद से की जाती है जो किसी एक सेकण्डरी मेमोरी डिवाइस (secondary memory device) में संग्रहित (store) हो जाती है। सॉफ्टवेयर, प्रोग्राम (programs) का एक
और नाम है। सॉफ्टवेयर, प्रोग्रामों का संग्रह है जो एक विशेष प्रयोजन (purpose) के लिए लिखा गया है। प्रोग्राम (program) एक निर्देशों का समूह (set
of Instructions) है जो की किसी विशेष प्रोग्रामिंग भाषा (Programming Language) में लिखा गया है। सॉफ्टवेयर के दो प्रमुख प्रकार हैं: सिस्टम
सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (System Software and Application Software)। इन दोनों सॉफ्टवेयरों के अपने अपने कार्य क्षेत्र है।

⏺️सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)➡️
 हा फ्रेंड्स सिस्टम सॉफ्टवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो पहले उपयोगकर्ता (User) को सूचना का आदान प्रदान करता है और फिर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) के साथ – साथ काम करता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को अपने अपने आंतरिक संसाधनों (Internal Resources) का प्रबंधन करने में मदद करता है | सिस्टम सॉफ्टवेर सिर्फ एक प्रोग्राम नहीं है, बल्कि कई प्रोग्रामों का एक संग्रह है। सिस्टम प्रोग्राम्स के महत्वपूर्ण घटक (Component) निम्न प्रकार है:

➡️ऑपरेटिंग सिस्टम (O.S.)➡️: ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो की कंप्यूटर हार्डवेयर (hardware) और सॉफ्टवेयर (Software) संसाधनों (सीपीयू (CPU), मेमोरी (memory) , इनपुट(Input) और आउटपुट (Output) आदि) का प्रबंधन और कंप्यूटर प्रोग्राम के लिए आम
सेवाएं प्रदान करता है। यह कंप्यूटर और उपयोगकर्ता (User) के बीच एक इंटरफेस (Interface) प्रदान करता है। विंडोज ओएस (Windows OS) कंप्यूटर पर सबसे अधिक और व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला
ऑपरेटिंग सिस्टम में से एक है | लिनक्स (Linux) और यूनिक्स ओएस (Unix Os) भी कुछ विशेष प्रकार की एप्लीकेशन में इस्तेमाल किया जाता है। वे कई प्रकार के होते हैं, जैसे एम्बेडेड (embedded), वितरित (distributed), रियल टाईम (realtime) आदि|

➡️यूटिलिटीज (Utilities):➡️ यूटिलिटीज विभिन्न प्रकार की सेवाएँ हैं जो की ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा प्रदान की जाती हैं। यूटिलिटीजजैसे डोफ्रेग्मेंटर(diskdefragmenter) अवांछनीय फ़ाइल (undesirable file) को हटाने एवं डिस्क के संसाधनों में पूर्ण रूप मे काम में लेने के लिए उपयोग होती हैं । इस सुविधा के द्वारा द्वारा हम डिस्क स्पेस (Disk_Space) को व्यवस्थित कर सकते हैं। 

➡️डिवाइस ड्राइवर (Device drivers): ➡️ये एक तरह के विशेष प्रोग्राम होते है जो अन्य इनपुट और आउटपुट डिवाइस को बाकी के कंप्यूटर प्रणाली के साथ संवाद(Communicate) करने की अनुमति प्रदान करते है|

➡️सर्वर (Servers): ➡️सर्वर की आवश्यकता तब पड़ती है जब अलग अलग यूजर (User) द्वारा किये गये अनुरोधों को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रोग्राम कोंरन करने कीजरूरत होती है।

⏺️एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software)➡️
एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर वो सॉफ्टवेयर है जो विशेष रूप से उपयोगकर्ताओं (Users) के लिए तैयार किये जाते है- इनको एंड यूजर प्रोग्राम्स (End User Program) भी कहते है। कुछ प्रोग्राम्स जैसे डाटाबेस प्रोग्राम,वर्ड प्रोसेसर, वेब ब्राउज़र, स्प्रेडशीट एप्लीकेशन सॉफ्टवेर (database programs, word processors, Web browsers and spreadsheets ) की श्रेणी में आते है | इन प्रोग्रामों कों बेसिक या स्पेशलाइज्ड एप्लीकेशन (Specialised
Application) के रूप में वर्गीकृत किया जासकता है।
बेसिकएप्लीकेशन (BasicApplications): इन एप्लिकशनों को व्यापक रूप से जीवन के लगभग सभी क्षेत्रों में उपयोग किया जाता है:
>व्यापार (Business)
>शिक्षा (Education)
>चिकित्सा विज्ञान (Medical Sciences)
>बैंकिंग (Banking)
>इंडस्ट्रीज (Industries)
एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का उपयोग आप अनेक कामों के लिये कर सकते है जैसे संदेश भेजने (Sending message), दस्तावेज़ (document) तैयार करने, स्प्रेडशीट (Spreadsheet) बनाना, डेटाबेस (Database), ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping) आदि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कि इस तरीके से तैयार किये जाते है जिससे उपयोगकर्ता के लिये काम करना आसान हो जाता है। उदाहरण के लिए यदि कोई उपयोगकर्ता कोई कभी भी वर्ड (MS Word) फ़ाइल बनाता तो उसे margin, line spacing, font साइज़ पहले से ही सेट मिलता है जिसे वो अपने अनुसार चेंज कर सकता है| उपयोगकर्ता (यूजर)डॉक्यूमेंट में रंग भरने, शीर्षकों और तस्वीरें
आवश्यकताअनुसार जोड़ सकते हैं 
उदाहरण: एक वेब ब्राउज़र एक एप्लीकेशन
सॉफ्टवेर है जिसे विशेष रूप से इंटरनेट पर पाई जाने

वाली इनफार्मेशन एवं कंटेंट खोजने के लिए तैयार
किया गया है।


⏺️हार्डवेयर (Hardware)⏺️
हार्डवेयर -➡️एक सामान्य शब्द है जोकि कंप्यूटर प्रणाली के किसी भी घटक (Component) की उपस्थिति (physical presence) का वर्णन करने के लिए, जिसे देखा और छुआ जा सके इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कंप्यूटर केस, मॉनीटर, कीबोर्ड और माउस भी शामिल है। इस तरह से कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर, प्रिंटर, मदरबोर्ड, मेमोरी चिप्स, इलेक्ट्रॉनिक सर्किट, एक्सपेंशन कार्ड, केबल, स्विच (monitor, computer case, keyboard, printers,
electronic circuitry, memory chips, motherboard, expansion cards, cables, switches ) जिसे आप छू कर महसूस कर सकते है वे
उपकरणशामिल हैं।

⏺️हार्डवेयर कंपोनेंट्स ((components)➡️ को अक्सर इनपुट, आउटपुट, स्टोरेज या प्रोसेसिंग कंपोनेंट्स (components) के रूप में वर्गीकृत कर सकते हैं।
हार्डवेयर कंपोनेंट्स जो सीपीयू (CPU) का एक अभिन्न हिस्सा नहीं हैं उन्हें पेरिफेरल उपकरणों (peripheral devices) के रूप में संदर्भित किया जाता है;
पेरिफेरल उपकरणों को आमतौर पर इनपुट, स्टोरेज या आउटपुट (जैसे हार्ड डिस्क, कीबोर्ड या प्रिंटर) के लिए उपयोग किया जाता है।

⏺️इनपुट डिवाइस (Input Device) ➡️एक ऐसी हार्डवेयर डिवाइस है यूजर से इनफार्मेशन (information) स्वीकार करती है, इनफार्मेशन को इलेक्ट्रिकल
सिग्नल (electrical signals) में कन्वर्ट करती है और उसके बाद प्रोसेसर को संचारित (transrmit) करती है | इनपुट डिवाइस का मुख्य कार्य मनुष्य
(Humans) को कंप्यूटर के साथ इंटरेक्शन करवाना होता है। उदाहरण के लिए अगर आप कंप्यूटर पर गेम खेल रहे हो तो माउस पॉइंटर (यूजर इंटरफेस के
डिजाइन के एक छोटे तत्व) द्वारा आपनेविगेशन कण्ट्रोल कर आसानी से कर सकते है।

⏺️आउटपुट डिवाइस (Output devices)➡️ कंप्यूटर सिस्टम से इनफार्मेशन लेता और ऐसी रूप में परिवर्तित करता है जिसको मनुष्यों (Humans) द्वारा आसानी से समझा जा सकता है। उदाहरण लिए मॉनिटर यूजर के लिए प्रोसेसर के द्वारा प्रोसेस की गयी इनफार्मेशन को विसुअल डिस्प्ले (Visual display) के द्वारा दिखाता है।

⏺️प्रोसेसिंग डिवाइस (Processing devices )➡️ कंप्यूटर के भीतर इनफार्मेशन की प्रोसेसिंग के लिए जिम्मेदार कंपोनेंट हैं। इनमे सीपीयू, मेमोरी और मदरबोर्ड डिवाइस शामिल हैं।

⏺️स्टोरेज डिवाइस (Storage devices) ➡️एक ऐसा कंपोनेंट हैं जो कंप्यूटर के भीतर डेटा संग्रहीत करने की अनुमति प्रदान करता है। इनमे हार्ड डिस्क ड्राइव
और कॉम्पैक्ट डिस्क ड्राइवशामिल हैं।










एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ