Ads

विधानसभा क्या है | विधानसभा किसे कहते हैं| विधानसभा सदस्य | विधानसभा सीट कितनी है विस्तार से जानकारी

विधानसभा 


→ अनु• 168 के तहत राज्य विधानमण्डल का निम्न सदन विधानसभा  होती है ।

→ अनु. 170 तथा अनु 333 के उपबन्धो के अधीन रहते हुए जनसंख्या के आधार पर बाटे हुए क्षेत्रों से चुने गए प्रतिनिधीयों को मिलकर विधानसभा को निर्माण होता है।

विधानसभा का गठन :

→ अनु•- 170 के अन्दर किसी भी राज्यों की  विधानसभा की अधिकतम सीटें 500 न्यूनतम स 160% हो सकती है लगभग ।

अपवाद-गोवा व मिजोरम- 40सी 
            सिक्किम = 32 सी
              पुदुचेरी - 30सी

→ वर्तमान मे सभी 28 राज्यों में विधानसभा है। तथा 2 केन्द्र  में शामिल प्रदेशो भी विधानसभा है।

  —14 वे संविधान संशोधन 1962 के तहत पुदुचेरी 
  —69 वे संविधान संशोधन 1991 में दिल्ली को भारत की राजधानी बनाई गई

Note → जम्मु कश्मीर राज्य पुनर्गठन अधिनियम 2019 के तहत J&R केन्द्र शामिल प्रदेश में भी विधानसभा का गठन किया जाएगा

* विधानसभा सीटों का निर्धारण : =>

अनु•42 C.A. 1976 सीटो का निधारण 1971 की जनगणना के आधार पर होगा तथा यह व्यवस्था 2000 तक रहेगी

→अनु•84C.A. 2001 : सीटों का निधारण 1881 की जनगणना के आधार पर होगा तथा यह व्यवस्था 2026 तक रहेगी

→अनु•87 'C. A 2003 :- आधार वर्ष - 2001 की जनगणना व्यस्था 2026 तक रहेगी

* जनसंख्या के आधार पर विधानसभा सीटो का निर्धारण अनु. 332 
→  विधानसभा सीटो मे जनसंख्या के आधार पर OBC अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के व्यक्तियों हेतु आरक्षण का प्रावधान किया गया। शुरुआत में यह प्रावधान 10 वर्ष हेतु  था

→अनु•95 वे C. A. 2009 के तहत यह व्यवस्था 2020 तक बढाई गई थी

→ अनु•126 के CA 2019 के तहत इस व्यवस्था को 2030 तक बढ़ा दिया।


*राजस्थान विधानसभा सीटो की संख्या 

→ राज की पहली विधानसभा का गठन - 31 मार्च 1852
को किया गया तब कुल सदस्य संख्या 160 थी।

 → दूसरी हव तीसरी वि० 176थी

→ चौधी व पाचवी विधानसभा [118] 

→छढी वि. -[200]

*वर्तमान 15 वीं विधानसभा में कुल सदस्य संख्या - [200] हे 

विधानसभा की अवधि / कार्यकाल

 → अनु. 172 के अनुसार राज्य विधानसभा का कार्यकाल 5 वर्ष तथ किया गया है।

→ कार्यकाल पूरा होने पर विधानसभा की राज्यपाल द्वारा मंग कर दिया जाता है। तथा नवीन विधानसभा हेतु भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा घर 5 वर्ष मे चुनाव (विधानसभा) आयोजित  होते हैं । व व्यस्क मताधिकार अनु•326 के तहत जनता अपने निर्वाचन क्षेत्रों में प्रतिनिधी चुनती है।

विधानसभा सदस्य हेतु योग्यता (अनु 173)

–वह भारत का नागरिक हो

- वह 25 वर्ष की आयु प्राप्त कर चुका है।

– संसद द्वारा बनाई विधी के अधीन निर्धारित शर्तों को पूरा करता है.

* विधानसभा की कार्यवाही

→ अनु. 174 राज्यपाल अपने विवेक के अनुसार समय समय, पर राज्य विधानसभा ( विधान सभा +V.P) के अधिवेशन बुलाता है ।

→ विधानसभा के दो अधिवेशनों के मध्य 6 माह से ज्यादा का वक्त नही होना चाहिए अंत: एक वर्ष में राज्य विधानसभा की दो बैठके  तो होनी ही चाहिए

अनु. 176 : विधानसभा के पहले सत्र तथा प्रतिवर्ष पहले अधी अधिवेशन को राज्यपाल सम् सम्बोधित करता

अनु. 175: राज्यपाल विधानसभा व विधान परिषद का संयुत अधिवेशन !

* विधानसभा के पदाधिकारी

→ अंशकालीन अध्यक्ष ( Proten - speaker) - नवीन विधानसभा के गठन पर राज्यपाल नये विधायकों में से ही किसी को अध्याची अध्यक्ष बना देता है, जो अन्य सभी नव निर्वाचित विधायकों को अनु. 188 के तहत विधानसभा के सदस्य के रूप में शपथ दिलवा देता है ।

→ पहली विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर - महाराब संग्राम सिंह

 → 15 वीं विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर– गुलाब चन्द्र कटारिया




मध्यप्रदेश की विधानसभा की सदस्य संख्या कितनी है
भारत में विधानसभा सीट कितनी है
विधानसभा क्या है
विधानसभा राजस्थान
उत्तर प्रदेश विधानसभा सीट
विधानसभा सीट कितनी है
विधानसभा किसे कहते हैं
विधानसभा सदस्य
विधानसभा सीट कितनी है

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ