आनुवांशिकी (Genetics) अनुवांशिकी किसे कहते है | अनुवांशिकी क्या हे | what is genetics


आनुवांशिकी (Genetics):

⏩एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थानान्तरित होने वाले लक्षण आनुवांशिक लक्षण तथा यह प्रक्रिया आनुवांशिकी कहलाती है। जॉन ग्रेगर मेन्डल ने आनुवांशिकी लक्षणों के वंशागति के नियमों का प्रतिपादन किया था। उन्होंने यह प्रयोग मटर के बीजों पर किया था।

•💠 मेण्डल ने अनुसार प्रभावी लक्षण (Dominant Characteristics) ही संतति में प्रकट होते हैं।

• न्यूक्लिव अम्ल- न्यूक्लिक अम्ल दो प्रकार के होते हैं •

1.DNA- डिआक्सीराइबो न्यूक्लिक अम्ल ।
2.RNA - राइबो न्यूक्लिक अम्ल ।

• ⏩आनुवांशिक लक्षण DNA द्वारा एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ले जाये जाते हैं । DNA हमारे जीन्स की संरचना का मुख्य घटक है। DNA अणु का मॉडल वाट्सन व क्रिक ने दिया था। उन्होंने इसका आकार द्विकुण्डलिनी (Double Helix) बताया जो सर्पिलाकार सीढ़ीनुमा होता है। प्रत्येक अणु में DNA के दो सूत्र सर्पिल कुण्डलित रहते हैं।

•⏩ कुछ वायरस में DNA के स्थान पर RNA आनुवांशिक गुणों के वाहक (genetic material) होते हैं। ऐसे वायरस Retrovirus कहलाते हैं, जैसे एड्स का HIV वायरस ।


💠न्यूक्लिक अम्ल के प्रमुख घटक


पेन्टोज शर्करा - ⏩DNA में डिआक्सी राइबो न्यूक्लिक शर्करा व RNA में राइबो न्यूक्लिक शर्करा |

💠फास्फोरिक अम्ल 💠

नाइट्रोजन क्षारक-⏩ ये निम्न प्रकार के होते हैं।

( अ ) पिरिमीडिन नाइट्रोजन क्षारक ·

• सायटोसीन (C) DNA एवं RNA दोनों में ।

थायमीन (T) यह DNA में पायी जाती है।

. यूरेसिल (U) यह RNA में पायी जाती है।

(ब) प्यूरिन नाइट्रोजन क्षारक


💠एडिनिन (A) RNA एवं DNA दोनों में ।

ग्वानिन (G)

• जीन (GENE) यह गुणसूत्रों पर स्थित होते हैं तथा आनुवांशिक लक्षणों का नियन्त्रण एवं संचरण करते हैं।

💠गुणसूत्र (Chremoso mes) : 
⏩ मानव में गुणसूत्र की संख्या 46 ( अर्थात् 23 जोड़ी ) होती है। ये गुणसूत्र दो प्रकार के । होते हैं -

💠कायिक गुणसूतत्र :

⏩ इनकी संख्या 44 होती है। ये शरीर रचना का निर्धारण करते हैं ।

लिंग गुणसूत्र : नर में - x y व मांदा में - x x - ये लिंग निर्धारण का कार्य करते हैं।

नर का x एवं मादा का x मिलने पर संतान मादा तथा नर का y एवं मादा का x मिलने पर संतान नर होती है


तो दोस्तो मेरे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी कमेंट सेक्शन में जरूर बताएगा | 




और भी science ke rileted post padni हो तो नीचे click here पर click kre👇👇👇
                                     Click here 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ