राजस्थान के प्रमुख युद्ध | हर एग्जाम में पूछे जाने वाले युद्ध | most important war off rajsthan | राजस्थान के प्रमुख युद्ध pdf

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको राजस्थान के प्रमुख युद्धrajasthan ke pramukh yudh) के बारे मे जाने वाले है जो हमेशा से हर परीक्षा में पूछे जाते है तो आपको इन सभी most important war off rajsthan के बारे में जरुर पढ़ना चाहिए जिससे आप सभी प्रतियोगिता परीक्षा में जबाब दे सके |

 rajasthan ke pramukh yudh

💥आज में आपको राजस्थान के प्रमुख ऐतिहासिक युद्ध के बारे में बताऊंगा तो plz आर्टिकल को  पूरा पड़े ध्यान से धन्यवाद🙏🙏


तराइन का प्रथम युद्ध 1191 अजमेर व दिल्ली के चौहान सम्राट पृथ्वीराज तृतीय एवं
मुहम्मद गौरी के मध्य, जिसमें पृथ्वीराज की विजय हुई।
तराइन का द्वितीय युद्ध 1192 पृथ्वीराज व गौरी के मध्य, जिसमें गौरी की विजय हुई।
रणथंबोर का युद्ध जुलाई
,1301
रणथम्भौर शासक राणा हम्मीरदेव चौहान एवं सुल्तान
अलाउद्दीन खिलजी के मध्य,
जिसमें अलाउद्दीन खिलजी की जीत हुई।
चित्तौड़ का युद्ध 1303 मेवाड़ के गुहिल शासक राव रत्नसिंह एवं अलाउद्दीन खिलजी
के बीच हुआ युद्ध,
जिसमें विजय के बाद अलाउद्दीन खिलजी
ने चित्तौड़ का प्रशासन अपने पुत्र खिा खाँ को
सौंपकर चित्तौड़ का नाम खिज्राबाद रख दिया था।
सिवाना का युद्ध 1308 अलाउद्दीन खिलजी ने वीर सातलदेव चौहान की सेना
को हराकर सिवाना दुर्ग पर
कब्जा किया और उसका नाम खैराबाद रखा गया।
जालोर का युद्ध 1311 सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी ने सोनगरा चौहान शासक
कान्हड़देव को पराजित किया।
सारंगपुर का युद्ध 1437 मेवाड़ के महाराणा कुंभा ने मालवा (मांडू) के सुल्तान महमूद
खिलजी को हराया। इसी विजय के उपलक्ष में कुंभा ने
विजय स्तम्भ का निर्माण करवाया था।
खतौली का युद्ध 1517 मेवाड़ के राणा सांगा (संग्रामसिंह) ने दिल्ली सुल्तान इब्राहीम
लोदी को हराया।
गागरोन का युद्ध 1519 राणा सांगा ने मालवा के सुल्तान महमूद खिलजी को हराकर
बंदी बनाया।
बयाना  का युद्ध फ़रवरी,
1526
राणा सांगा ने बाबर की सेना को हराकर बयाना का किला जीता।
खानवा का युद्ध मार्च ,
1527
मुगल बादशाह मोहम्मद जहीरुद्दीन बाबर ने राणा सांगा को हराया।
गिरी–सुमेल का युद्ध जनवरी,
1544
दिल्ली के अफगान बादशाह शेरशाह सूरी ने जोधपुर के राठौड़
शासक मालदेव को हराया एवं कहा कि "मुट्ठी भर बाजरी के
लिए मैं हिन्दुस्तान की बादशाहत खो देता।"
चित्तौड़ का युद्ध 1567 मुगल बादशाह अकबर की सेना ने मेवाड़ महाराणा उदयसिंह
को परास्त किया।
हल्दीघाटी का युद्ध 18 जून,
1576
अकबर के सेनापति मानसिंह एवं महाराणा प्रताप की सेना के
मध्य हुआ युद्ध जिसमें प्रताप की पराजय हुई।
कुंभलगढ़ का युद्ध 1578 शाहबाज खाँ के नेतृत्व में मुगल सेना एवं महाराणा प्रताप की
सेना के मध्य हुआ जिसमें मुगल सेना ने कुंभलगढ़ पर
अधिकार कर लिया। इसके बाद प्रताप ने चावंड को
अपनी राजधानी बनाया।
मतिरे की राड ( युद्ध) 1644 औरंगजेब ने उत्तराधिकार युद्ध में शाही सेना व दाराशिकोह
का हराया। शाही सेना का नेतृत्व जोधपुर के महाराजा
जसवंतसिंह कर रहे थे।
धरमत का युद्ध
(मध्यप्रदेश)
अप्रेल
1658
औरंगजेब ने उत्तराधिकार युद्ध में शाही सेना व दाराशिकोह
का हराया। शाही सेना का नेतृत्व जोधपुर के महाराजा
जसवंतसिंह कर रहे थे।
दोराई का युद्ध 1658 अजमेर के निकट दौराई स्थान पर उत्तराधिकार युद्ध में औरंगजेब
ने दारा शिकोह को पुनः हराया।
पिलसुद का युद्ध 10 मई,
1715
जयपुर नरेश सवाई जयसिंह ने मराठों की सेना को पराजित कर
उन्हें नर्मदा के दक्षिण मेंखदेड़ा।
मंदसौर का युद्ध 1733 जयपुर के सवाई जयसिंह एवं मराठों के मध्य युद्ध जिसमें
जयसिंह पराजित हुआ। और उसे मराठों को हर्जाना व
मालवा के कुछ परगने देने पड़े।
राजमहल (टोंक)
का युद्ध
1747 जयपुर नरेश ईश्वरीसिंह ने अपने भाई सेना को माधोसिंह,
मराठा, एवं कोटा-बूँदी की संयुक्त सेना को हराया ।
भटवाड़ा का युद्ध 1761 कोटा के राजा शत्रुसाल एवं जयपुर नरेश सवाई माधोसिंह
के मध्य रणथम्भौर के वर्चस्व को लेकर हुआ युद्ध जिसमें
कोटा की सेना की जीत हुई।
तुंगा का युद्ध 1787
जयपुर नरेश सवाई प्रतापसिंह एवं जोधपुर नरेश महाराणा
विजयसिंह की संयुक्त सेना ने मराठा महादजी सिंधिया की
सेना को हराया।
घिंगोली का युद्ध 1807 जयपुर नरेश जगतसिंह द्वितीय एवं जोधपुर के शासक मानसिंह
राठौड़ के मध्य मेवाड़ की राजकुमारी कृष्णाकुमारी से विवाह
को लेकर हुए विवाद के कारण हुआ यूद्ध जिसमें जोधपुर की
पराजय हुई।
बिथोरा का युद्ध 1857 आउवा  के ठाकुर कुशालसिंह चाँपावत के नेतृत्व में क्रांतिकारियों
(जोधपुर लीजियन के विद्रोही सैनिकों) की सेना ने कैप्टन हीथकोट
के नेतृत्व में आई अंग्रेजी व जोधपुर राज्य की संयुक्त सेना को हराया।
आउवा का युद्ध 1857 आउवा में कुशालसिंह के नेतृत्व वाली क्रांतिकारी सेना ने अंग्रेजी सेना
व जोधपुर की सेना को हराया। ए.जी.जी. लारेन्स को भागना पड़ा
तथा पॉलिटिकल एजेन्ट मोक मेन्सन की हत्या कर क्रांतिकारियों ने
उसका सिर किले पर लटका दिया।





राजस्थान के प्रमुख युद्ध pdf
राजस्थान के प्रमुख युद्ध
राजस्थान के प्रमुख युद्ध की ट्रिक
राजस्थान के प्रमुख युद्ध एवं सम्बंधित प्रश्नोत्तरी
राजस्थान gk

एक टिप्पणी भेजें

2 टिप्पणियाँ